Post Creation for Advocate General Office

Click on the Description to bring up complete document for viewing or local printing. You will also be given an option to either save the document on your system or to open it using Acrobat Reader. To render Hindi text correctly, click to download UNICODE font.

 

महालेखाकार कार्यालय स्थापना अन्तर्गत वर्ग-3 एवं वर्ग-4 के पद सृजन संबंधी राज्यादेश जो विधि विभाग के स्तर से निर्गत है|

  Category.
Letter No. Date Description
452 26-07-2011 सी०डब्लू०जे०सी० सं०-11839/2005 (बिहार अनुसूचित कर्मचारी संघ- बनाम बिहार राज्य एवं अन्य) में दिनांक 19-01-2011 को पारित अंतरिम न्याय के अलोक में महाधिवक्ता कार्यालय के लिए पूर्व से सृजित प्रशासी पदाधिकारी के एक पद को अवर सचिव के पद के रूप में नामित करने, प्रशाखा पदाधिकारी का एक पद, सहायक के तीन पद आशुलिपिक सह कम्प्युटर ऑपरेटर का पन्द्रह पद, आईटी मनेजेर का एक पद (संविदा पर) के सृजन की स्वीकृति एवं माली, आदेशपाल, रात्रि प्रहरी तथा स्वीपर का कार्य आउटसौर्स से कराये जाने की स्वीकृति|
5204 22-10-2008 महाधिवक्ता, बिहार, उच्च न्यायलय, पटना के कार्यालय के लिए निम्न्वर्गीये लिपिक के 8 (आठ) पद वेतनमान 3050-4590/- में स्वीकृति के उपरांत प्रतिमाह की दर से एक वित्तिय वर्ष में 6,85,152/- (छ: लाख पचासी हजार एक सौ बावन) रुपये के अनुमानित व्यय पर पद सृजन की स्वीकृति|
349 25-01-2007 महाधिवक्ता, बिहार, उच्च न्यायलय, पटना के लिए फोटो मशीन चलने हेतु संविदा के आधार पर नियत वेतन रुपये 2,500/- (दो हजार पाँच सौ) रुपये मात्र प्रतिमाह देने के निमित्त एक पद सृजन के संबंध में|
78 26-03-2007 महाधिवक्ता, बिहार, उच्च न्यायलय, पटना के कार्यालय के लिए आशुटंकक के 20 (बीस) पद संविदा के आधार पर नियत वेतन रूपये 4,000/- (चार हजार) प्रतिमाह प्रतियेक आशुटंकक को एवं महाधिवक्ता, बिहार हेतु 1 (एक) कम्प्युटर जानकारी वाले स्टेनोग्राफर को रुपये 6500/- (छ: हजार पाँच सौ) नियत रुपये प्रतिमाह की दर से एक वित्तिय वर्ष में 10,38,000/- (दस लाख अड़तिस हजार) रुपये के व्यय पर पद सृजन की स्वीकृति के संबंध में|
3073 01-09-2006 महाधिवक्ता, बिहार, उच्च न्यायलय, पटना के लिए स्वीपर के दो पद संविदा के आधार पर नियत वेतन 2,550/- (दो हजार पाँच सौ पचास) रुपये मात्र प्रतिमाह प्रतियेक स्वीपर को देने के निमित्त पद सृजन के संबंध में|

Top